Search for:
  • Home/
  • क्षेत्र/
  • राजधानी दिल्ली में संस्कारधानी जबलपुर की साहित्यिक विभूति विनीता श्रीवास्तव हुई अलंकृत

राजधानी दिल्ली में संस्कारधानी जबलपुर की साहित्यिक विभूति विनीता श्रीवास्तव हुई अलंकृत

राजधानी दिल्ली में संस्कारधानी जबलपुर की साहित्यिक विभूति विनीता श्रीवास्तव हुई अलंकृत

(अंतर्राष्ट्रीय काव्य प्रेमी मंच के तत्वाधान में आयोजित वृहत आयोजन में संस्कारधानी जबलपुर से राजधानी दिल्ली में दो दिव्य ग्रंथों “भारत को जानें” व “आयुर्वेद को जानें ” के विमोचन सुअवसर पर पहुँचीं नगर की वरिष्ठ साहित्यकार)

जबलपुर – अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर देश व विदेश से साहित्यिक विदुषियों व विद्वानों ने अपनी सृजनधर्मिता से गौरव महसूस कराया।
इस वृहत् आयोजन में दो महाग्रंथों में से प्रथम सत्र में भारत को जानें का आयोजन सम्पन्न हुआ जिसमें 278 साहित्यकारों के सहयोग से दोहे व चौपाइयों के माध्यम से निर्मित महाग्रंथ का विमोचन व सम्मान समारोह आयोजित हुआ।
दूसरे सत्र में 126 साहित्यकारों के प्रयासों से निर्मित महाग्रंथ आयुर्वेद को जानें प्राकृतिक वनस्पतियों द्वारा उपचार का दोहों में वर्णन एवँ अनुवाद के विमोचन व अलंकरण समारोह आयोजित किया गया।
तंजानिया,पूर्वी अफ्रीका स्थित 1. डॉ ममता सैनी अंतरराष्ट्रीय काव्य प्रेमी मंच की संस्थापिका द्वारा संपादित महाग्रंथों का पूर्व दिवस में एनडीएमसी में भव्य आयोजन सम्पन्न हुआ ।
प्रथम सत्र में पद्मश्री अलंकृत सुरेंद्र शर्मा जी की उपस्थिति में भारत को जाने व द्वितीय सत्र में आयुर्वेद को जानें का पद्मश्री अशोक चक्रधर जी की उपस्थिति में विमोचन किया गया व समस्त साहित्यकारों कोए अलंकरण प्रदान किए गए। अंतर्राष्ट्रीय काव्य प्रेमी मंच की राष्ट्रीय टीम के महासचिव के रूप में,भारत को जानें महाग्रंथ में मध्यप्रदेश की विशिष्ट हैड के रूप में कार्य किया।ममता जी की विशेष सहयोगी व आत्मीय विनीता श्रीवास्तव जबलपुर का योगदान महत्वपूर्ण रहा।
ममता सैनी जी के साथ प्रथम महिला से लेकर प्रत्येक ग्रंथ में कंधे से कंधा मिलाकर राष्ट्रीय स्तर पर अपना सहयोग दिया।
भारत को जानें ग्रंथ को गोल्डन बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड्स ,इंडिया बुक आफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स, ऑफिशियल बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स, स्पेन बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स,साथ ही आयुर्वेद को जानें ग्रंथ को इंडिया बुक ऑफ़ रिकार्ड्स और गोल्डन बुक ऑफ़ रिकार्ड्स कीर्ति अलंकरण से सम्मानित किया गया।
संस्कारधानी जबलपुर की गणमान्य साहित्यिक विभूति सम्मानित हुई विनीता श्रीवास्तव वरिष्ठ साहित्यकार
अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अलंकृत होकर जबलपुर नगर गौरवान्वित है।

Leave A Comment

All fields marked with an asterisk (*) are required